बलगमी खांसी का देसी इलाज

खांसी एक ऐसा मर्ज़ है जो नाम से सुनने में बहुत मामूली लगता है मगर जब किसी को खांसी होती है तो शायद खुदा के सिवा कोई नहीं जान सकता है कि उस पर क्या गुजरती है क्यों कि कई तरह की दवाइयां  प्रयोग करने के बाद भी अगर खांसी ठीक न हो तो समझ ले कि बलगमी खांसी है। बलगमी खांसी का देसी इलाज से ही बचाव हो सकता है और सोने पे सुहागा ये की खांसी के साथ बलगमबहुत ज्यादा  आती रहे तो ज़िन्दगी  बहुत कठिन दौर होता है क्यों कि खानदान और आफिस के लोग बार बार आपके बलगम आने से और खाँसने  से परेसान होते है।  अगर आप इस परेसानी से झूझ रहें हैं तो आपको घबराने की जरूरत नहीं हम आपको कुछ उपाय बताएंगे जिस से आपकी बलगमी खांसी का देसी इलाज मुमकिन हो सकता है और आप काफी हद तक इस से फायदा हासिल कर सकते हैं।

बलगमी खांसी का देसी इलाज

बलगमी खांसी खत्म करने का तरीका

अगर आप खांसी के मर्ज़ का शिकार हैं और दवाइयों के ज़रिये या दवाओं के समय सीमा तक लेने के बाद भी  आपकी तबीयत में कोई काफी हद तक फ़र्क़ महसूस नहीं हो रहा है तो कुछ घरेलु उपायों के माध्यम आप इस से फायदा पा  सकते है।  इसका सब से महत्वपूर्ण उपाय है की आप की हंस चर्बी को अपने सीने पर मल लें इसकी वजह ये है कि हंस  की चर्बी सीने में जमी हुई बलगम को पिघलने में बहुत हद तक मदद करता है।  अगर आप निम्बू के टुकड़े को अच्छी तरह से निचोड़ कर एक तौलिये  में डाल  कर रख ले और उस तौलिए को अपने सीने पर लपेट दें तो उस से भी काफी हद तक खांसी में कमी सही मायने में होगी।

बलगमी खांसी का इलाज का देसी उपाय

अगर आप के घर के अगल बगल कोई पीपल का पेड़ है तो ठीक है वरना आप कोई पीपल का पेड़ तलाश कर ले और उसके फल को छाया में अच्छी तरह से सुखाएं अब उसको ऐसे पेस लें की उसका महीन पाउडर बन जाये और हम उसके भर के अनुसार चीनी मिला लें और अब हर रोज नियम से पांच ग्राम सुबह और पांच  ग्राम दोपहर और पांच  ग्राम रात को पानी या दूध के साथ खाएं फायदा होगा।

बलगमी खांसी का इलाज   हिंदी में

सर्दी के मौसम में छाती में बलगम का जम जाना एक छोटी सी बात है मगर कुछ लोग ऐसे होते हैं जिनकी छाती में हर वक़्त बलगम जमी रहती है ऐसे लोग को सबसे पहले सिगरेट पीना छोड़ना  होगा और हर तरह के धुँआ से बच के रहन होगा क्योंकि ये धुँआ चाहे सिगरेट का हो या गाडी का फेफड़ो में जाते ही ऐसी ज़हरीली गैस को जनम देता है जो फेफड़ो   में टार भर देती है।  इस लिए सुबह के समय टहलने को अपना दिनचर्या  बनाये जिस से ताज़ा हवा आपके फेफड़ो में जाये और ऐसे ही शाम को भी टहलने को अपनी ज़िन्दगी का हिस्सा बना लें। छाती में बलगम को ख़तम  के लिए पानी को गरम कर लें एक पतीले में और उसमे विकस डाल  दे उसके बाद बड़ी सी चादर खुद पर डाल  कर अच्छी तरह से भांप लें फायदा अवश्य होगा।

शहद से खांसी का इलाज

  • शहद  लें
  • हल्का गरम पानी
  • सौंफ
  • अदरख  इन सबको मिक्स बनाये और बिना कुछ पिए सुबह और शाम में ले,  अल्लाह की दुआ से इससे फायदा जरूर हासिल कर पाएंगे

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*